दोस्तों, कभी-कभी वैज्ञानिकों को अंतरिक्ष में ऐसी चीजें मिल जाती हैं, जो उन्हें ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को हैरान कर देती हैं. हाल ही में एक ऐसी ही हैरान करने वाली चीज पे नासा का ध्यान गया है. Nasa को अंतरिक्ष (Space) में एक बड़ा खजाना Golden Asteroid मिला है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि इसकी कीमत इतनी है कि धरती पर मौजूद सभी लोगों में अगर बांटा जाए तो हर व्यक्ति अरबपति (Billionaire) बन सकता है.

दरअसल हुआ ये की, नासा (NASA) को अंतरिक्ष में बड़ी मात्रा में लोहे (Iron) का भंडार मिला है. असल में यह एक एस्टेरॉइड Golden Asteroid है, जिसे 16 साइकी (16 Psyche) नाम दिया गया है.

सौरमंडल (Solar System) के सबसे मेहेंगे Asteroid Psyche की खोज, इटली के Astronomer एनीबेल गास्प्येर ने 1852 में की थी, लेकिन उस समय ये पता नहीं था की ये Asteroid किन-किन चीज़ों से बना हुआ है.

NASA Found Golden Asteroid In Space

करीब 226 किलोमीटर चौड़ा यह Asteroid, 95% लोहे (Iron) और अन्य धातुओं से बना है. जिसमे निकल (Nickel), सोना (Gold), प्लैटिनम (Platinum), कॉपर (Copper) जैसे कई दुर्लभ धातु है.

इस Asteroid पर मौजूद धातुओं की कीमत करीब 10,000 Quadrilian Dollar है, और यह कीमत सिर्फ ऐस्टरॉइड (Asteroid) पर मौजूद आयरन की है. अगर इसे दुनिया के लगभग आठ अरब लोगों के बीच बांटा जाए, तो हर एक के हिस्से में 9500 करोड़ रुपये से भी ज्यादा पैसे आएंगे. है ना कमाल?

यह Asteroid, Mars (मंगल) और Jupiter के बीचवाले Asteroid Belt के सबसे बड़े Asteroid में से एक है, जो अभी सूर्य की परिक्रमा कर रहा है.

READ MORE: PHASES OF MOON चांद के कितने आकार होते हैं? TYPE OF MOONS

पृथ्वी से कितना दुरी पर है Golden Asteroid?

पृथ्वी से करीब 24 अरब मील दूर जहां किसी भी अंतरिक्ष यान (Spacecraft) को पहुंचने में करीब चार साल लग सकते है. 2023 में इस Golden Asteroid तक पहुंचने के लिए एक Robotic मिशन स्पेस एक्स (SpaceX) के सहयोग से शुरू किया जाएगा. ये मिशन 7 साल तक ऐस्टरॉइड (Asteroid) का study करने के बाद 2030 में वापस धरती पर लौटेगा.

नासा (NASA) ने अपने अंतरिक्ष यान का नाम भी साइक स्पेसक्राफ्ट (Psyche Spacecraft) रखा है. फिलहाल इस यान ने डिजाइन स्तर का दौर पास कर लिया है. अभी तो इस Golden Asteroid पे कोई माइनिंग करने की कोई योजना नहीं है.

Nasa और SpaceX बस इसे जानने की कोशिश करेंगे कि इतिहास में ग्रह एक-दूसरे से अलग कैसे हुए थे. है ना Interesting?

हमारे Solar System के जन्म के बारे में केवल ग्रहों से जानकारी नहीं मिलती इसके लिए वैज्ञानिकों को Asteroids से भी काफी जानकारी मिल जाती है. हमने इसके पहले भी Vesta, सेरेस (CERES), रियगु (Ryugu) और Bennu जैसे Asteroids पे सफल मिशंस किये है.

READ MORE: AMAZING SPACE FACTS IN HINDI मंगल पर नीला सूर्यास्त क्यों होता है?

कैसे करेगा नासा इसका काम?

NASA नासा 16 साइकी (16Psysche Golden Asteroid) का study कर उसका नक्शा यानी MAP बनाएगा. इसके लिए अंतरिक्ष यान के साथ इमेजर, स्पैक्ट्रोमीटर, मौग्नेटोमीटर जैसे उपकरण लगे होंगे.

इस Golden Asteroid Mission की सबसे बड़ी वजह क्या है?

NASA नासा को उम्मीद है कि पृथ्वी बहुत बड़ा ग्रह है, इसलिए उसके Core का Study नहीं हो सकता है. जो हमारे पैरों के निचे 3000 किलोमीटर पर है. लेकिन Golden Asteroid के बारे में माना जाता है कि, ये Asteroid किसी ग्रह का पूरा Core है.

जिस वक़्त हमारे सौर मंडल (Solar System) में किसी अन्य ऑब्जेक्ट से टकरा गया होगा, जिससे इसका Mantle और क्रस्ट नष्ट हो गया होगा और बची हुयी Core ठंडी होक ये Asteroid बना होगा? जो निकल और लोहे से भरपूर है, जैसा की हमारी पृथ्वी के Core में है.

Yahi वजह hai की वैज्ञानिक इस Asteroid में खास दिलचस्पी दिखाते हुए इस इस मिशन को पूरा करना चाहते है…